Amit Yadav

Amit Yadav Follow

Blogger
Journalist
Photographer (काम चलाऊ)
IIMCian
Tweets @amitaheer
Blog⤵

http://udateparindey.blogspot.in/

183 Followers  151 Follow

Share Share Share

बहुत से आईना-ख़ाने हैं इसी बस्ती में लेकिन
तरसती है हमारी आँख चेहरा देखने को
~मंज़र भोपाली ❤
#दोस्ती

इस शब्द के मायने बहुत हैं लेकिन 'मतलब' एक ही है। हालाँकि मतलब भी तभी तक रहता है जब तक इसमें 'बड़ी ई' की मात्रा नहीं लग जाती। इसके बाद इस के मायने खत्म हो जाते हैं। फिलहाल तो ये मेरी जमा पूँजी है। जो कभी खत्म नहीं होगी। वैसे तो रोज़ प्लास्टिक पीटते हैं कुछ कमाने के लिए लेकिन इन्हें कमाने के लिए कुछ नहीं करना होता। मिल जाते हैं कहीं किसी चार दीवारी में कागज पलटते। 😍😍
@abhishek2425.vats  @manshes_estudio 
बाकी दो हियाँ नहीं हैं। 😁
तुक्के में लगा एक प्यारा तीर 😂
रात के ढाई बजे तक आँखों में नींद नहीं है और वो कहते हैं की हमको आराम बहुत है! क्या है कि हम सपनों में अब कम विश्वास करते हैं। क्योंकि अब पता नहीं क्यों सपनों पर भरोसा और ज्यादा पक्का हो गया है। जो भी सपना आता है हमेशा सच होता है। लेकिन दुर्भाग्य कि सपना वही आता है जिसकी 'वो' कामना करते हैं। इसलिये हमने सोना कम कर दिया। कम सोयेंगे, कम सपने आएंगे, कम कम खराब होंगे! 🚶🚶🚶🚶
कल्पना और फायदा- बस कल्पना करो, वो सामने है! रुको, निहारो, फिर से गौर करो। भरोसा हुआ? नहीं? चलो फिर आगे बढ़ो! यहां पर तो बिल्कुल मत रुकना। पता है! कल यहीं पर ये जो सरकारी निशान वाला पेड़ दिख रहा है यहीं पर थक कर टिक गया था वो। फिर क्या था आँख लग गई उसकी और वो छूट गई। जो उसे ले जा सकती थी उसकी मन्ज़िल पर। समझे! तो कल्पनाओं में बह लो हमने कब रोका है लेकिन अगले ही पल संभल जाओ। फायदे में रहोगे।
(मन में अचानक आया एक शब्द 'शुक्रिया') 😊
"The only person you should try to be better than is the person you were yesterday." 💪🚶🏃
मंज़िलों के रास्ते ❤
खिड़कियों में धुंधली सी एक तस्वीर ❤
जब नींद न आ रही हो और रात के 1 बजे तुम्हें वो सब लिखने का मन करने लगे जिसे तुम पिछले 12 साल से अपने साथ लिए फिर रहे हो। तो समझ लो तुम बेकारी की तरफ बढ़ रहे हो। इतने टाइम लैपटॉप खोलकर पुराने फ़ोटो में से क्या निकाल लोगे? वही 2 आंसू! वही जिंदगी के पहिये को वापस मोड़ने की चाह! वही उनके गम में मुरझाये चेहरे पर हँसी तलाशना! वही उनका वो अपने सूखे आंसुओं को पलकें लपलपाकर गायब करने की अदा!
सब बेकार है। अब वो सब विस्मर्तियां हैं। 🚶
#Lifeline ❤😘😘
The beginning ❤
#happymothersday 😘🙏