Acharya vinod Kumar

Acharya vinod Kumar Follow

Renowned Celebrity Astrologer

http://www.Astroguruvinodji.com/

291,267 Followers  0 Follow

Share Share Share

Dressed in #Yellow #Attire, the #Golden #Aura around her has given her the titles of #Pitambara Devi and #Bramhastra Roopini. According to the #Peetambari #Peeth, #Goddess #Bagalamukhi came to existence when the floods and storm that could have washed out the human existence from earth needed to be controlled.
“Nothing is more #Beautiful than the #Loveliness of the woods before sunrise.” #Earth #Earthday ..
#Inspiration #Inspirationalquote #Positive #Thoughts You #Learn more from #Failure than from #Success.
चैत्र की शुक्ल पूर्णिमा को हनुमान जी का जन्म माना जाता है। इस साल हनुमान जयंती 19 अप्रैल 2019, शुक्रवार को मनाई जा रही है, जो कि चित्रा नक्षत्र में है। लेकिन इस नक्षत्र के साथ ही एक खास योग भी बन रहा है, जिसमें आप सभी कर्जों से मुक्ति पाने के लिए बजरंगबली की पूजा-अर्चना कर सकते हैं। ऐसे में आर्थिक तंगी से जूझ रहे भक्त विशेष पूजा करके संकटमोचन का आशीर्वाद प्राप्त कर सकते हैं और सभी कर्जों से मुक्ति मिलेगी।
आज महावीर जयंती है. महावीर जयंती हर साल पूरी दुनिया में बड़े ही हर्षोल्‍लास के साथ मनाई जाती है. जैन धर्म के 24वें तीर्थंकर भगवान महावीर का जन्मदिवस चैत्र माह में शुक्ल त्रयोदशी को मनाया जाता है. हिंसा, पशुबलि, जात-पात का भेद-भाव जिस युग में बढ़ गया, उसी युग में भगवान महावीर का जन्म हुआ. उन्होंने दुनिया को सत्य,अहिंसा का पाठ पढ़ाया. महावीर ने अहिंसा को सर्वोपरि बताया और जैन धर्म के पंचशील सिद्धांत दिए. इनमें अहिंसा, सत्‍य, अपरिग्रह, अस्‍तेय और ब्रह्म्‍चर्य शामिल हैं. उन्होंने अनेकांतवाद, स्यादवाद और अपरिग्रह जैसे अद्भुत सिद्धांत दिए. भगवान महावीर का आत्म धर्म जगत की प्रत्येक आत्मा के लिए समान था. दुनिया की सभी आत्मा एक-सी हैं इसलिए हम दूसरों के प्रति वही विचार एवं व्यवहार रखें जो हमें स्वयं को पसंद हो. यही महावीर का 'जियो और जीने दो' का सिद्धांत है |
Baisakhi,also known as Vaisakhi, Vaishakhi, or Vasakhi, is a spring harvest festival celebrated in Punjab. It coincides with Pohela Boishakh (Bengali New Year), Bohag Bihu (Assamese New Year), Vishu (New Year of Hindus in Kerala), Puthandu (Tamil New Year).
मां दुर्गाजी की नौवीं शक्ति का नाम सिद्धिदात्री हैं। ये सभी प्रकार की सिद्धियों को देने वाली हैं। नवरात्र-पूजन के नौवें दिन इनकी उपासना की जाती है। इस दिन शास्त्रीय विधि-विधान और पूर्ण निष्ठा के साथ साधना करने वाले साधक को सभी सिद्धियों की प्राप्ति हो जाती है। सृष्टि में कुछ भी उसके लिए अगम्य नहीं रह जाता है। ब्रह्मांड पर पूर्ण विजय प्राप्त करने की सामर्थ्य उसमें आ जाती है।
At the age of sixteen, Goddess Shailputri's complexion was extremely fair, hence she came to be known as Goddess Mahagauri. She governs planet Rahu and is worshipped on the eighth day of Navratri. She rides on a bull and has four arms. She only adorns white clothes. Offer her night-blooming jasmine while chanting 'Om Devi Mahagauryai Namah'
Jai Mata Di 🙏🙏🙏 To kill Shumbha and Nishumbha, Goddess Parvati removed her outer skin and hence came to be known as Goddess Kalaratri. She is the most fearsome avatar of Goddess Parvati. She rides on a donkey and governs the planet Saturn (Shani). She is also known as Goddess Shubhankari. Offer her prayers along with the mantra, 'Om Devi Kalaratryai Namah'.
When Goddess Parvati decided to destroy the demon Mahishasura, she took the form of Goddess Katyayani. Hence, this avatar of the devi is also known as the warrior goddess. Worshipped on the sixth day of Navratri, Goddess Katyayani rides on lions and has four arms. She is offered red coloured flowers along with mantra, 'Om Devi Katyayanyai Namah'
नवरात्रि का पाँचवाँ दिन स्कंदमाता की उपासना का दिन होता है। मोक्ष के द्वार खोलने वाली माता परम सुखदायी हैं। माँ अपने भक्तों की समस्त इच्छाओं की पूर्ति करती हैं।
Jai Mata Di